आखरी मुलाकात -निर्मल जैन ‘नीर’

आखरी मुलाकात…
*******************
बहुत
याद आएंगे
आखरी है मुलाकात
भूल नहीं
पायेंगे

मीठी
प्यारी बातें
वो रंगीन चाँदनी
इश्क़ की
रातें

सौम्य
सा चेहरा
हालात से मज़बूर
बना आज
मोहरा

दिलों
में खाईयाँ
जानें कब बढ़ती
गई हमारी
दूरियाँ

घात
पे प्रतिघात
थोड़ा मुस्कुरा ले
जैसे आखरी
मुलाकात

*******************
निर्मल जैन ‘नीर’
ऋषभदेव/उदयपुर
राजस्थान

Share

1 thought on “आखरी मुलाकात -निर्मल जैन ‘नीर’”

Leave a Comment