राणा पूंजा सोलंकी भीलों के वीर सेनापति

महाराणा प्रताप की इस वीर भील सेना के सेनापति ने ऐसी वीरता दिखलाई”
********
हल्दीघाटी में शिकारी बैठे अब कैसे हम अपनी जान बचाए

असमंजस में फंसे हुए चारों ओर मौत के मंजर छाए।

प्रताप की सेना को अकबर की सेना ने हल्दीघाटी में घेरा था

कितना धीरज गरल पिए हम कैसे मन को समझाए।

हौसला अगर बुलंद हो तो फिर मौत भी आखिर टल जाती

एक अकेला बाहर आया और उसने मौत के तीर बरसाए।

अपनों की लाशें गिरते देख अकबर की सेना भयभीत हुई

राणा पूंजा की मार के आगे अकबर के सैनिक भी घबराए।

महाराणा प्रताप की इस वीर भील सेना के सेनापति ने ऐसी वीरता दिखलाई

महाराणा का सिर गर्व से ऊंचा हुआ और नयन नीर से भरआए।

राणा पूंजा सोलंकी की मार अकबर की सेना पर भारी पड़ गई

राणा पूंजा ने जान पर खेलकर अपनी सेना के प्राण बचाए।

पनरवा के शेर को अकबर की सेना भी नहीं रोक पाई

अकबर की सेना को दुधा-केहरि के लाल ने दिन में तारे दिखलाएं।

सीताराम पवार
उ मा वि धवली
जिला बड़वानी
9630603339

Share

Leave a Comment