अलविदा इक्कीस- सतीश बब्बा

नव वर्ष उत्सव 2022
कविता। “अलविदा इक्कीस”

World of writers

अलविदा वर्ष इक्कीस,
तुमने निकाल ली सबकी खीस,
जबसे आया तू इक्कीस,
लाया कोरोना, कोविड उन्नीस!

किसी तरह से पीछेदारी,
ऐसे लग रही दुनियादारी,
छूट जाएगी कोरोना महामारी,
फिर से हुई गाइड लाईन जारी!

सुन लो कान खोल इक्कीस,
दिया कोरोना तुमको बीस,
तुम मत देना हमको बीस,
हमें चाहिए शांत बाईस!

आओ स्वागत है बाईस,
भाईचारा, प्रेम बढ़ाना,
अच्छे लोगों को चुनाव जिताना,
शांति का मसीहा बने बाईस!

तुम्हें नहीं कोसते हैं इक्कीस,
अच्छी बातें जो करे बाईस,
दोनों मिलकर गले वर्षेश,
दोनों को नमन बाईस, इक्कीस!

सतीश “बब्बा”

Share

4 thoughts on “अलविदा इक्कीस- सतीश बब्बा”

  1. 💐💐👌👍 बहुत खूब, सराहनीय सृजन 💐💐👍
    — राजकुमार छापड़िया

Leave a Comment