बाल गीत हिमालय_वीना आडवाणी तन्वी

बाल गीत
हिमालय

********

एक दिन हिमालय की चोटी पर
मैं चड़के दिखलाऊंगा
हिमालय की ऊंची चोटी पर चढ़
ध्वजा भी मैं लहराऊंगा।।
नन्हा वीर सिपाही बन रणभूमि में
विजय पताका पाऊंगा
मार गिराऊंगा देश के दुश्मनों को
देश पर आंच न आने दे पाऊंगा।।
उठे जो कदम ऊंगली मेरे वतन पर
उसे मार मैं काट ही गिराऊंगा।।
देश का गौरव मेरा हिमालय
उस पर चढ़ शंख नाद कर जाऊंगा।।
थरथर कापंगे जब देश के दुश्मन
तभी मैं खुश हो सुकून पाऊंगा।।

वीना आडवाणी तन्वी
नागपुर, महाराष्ट्र
********************

Share