भाई दूज -रमाकांत सोनी

भाई बहन का पावन प्यार
भाई दूज का यह त्यौंहार

विषय भाई बहन का पावन प्यार
भाई दूज का यह त्यौंहार
बड़ा अनमोल ये रिश्ता
गुण गाता सारा संसार

अटूट बंधन प्रेम का
मन से मन का प्यार
खुशियों से झोली भरे
बहना का घर संसार

चंदन तिलक लगा माथे पर
रक्षा सूत्र बांधे बहना
लंबी उम्र जीओ मेंरे भ्राता
खुशहाली में तुम रहना

यम यमुना के घर जाता है
भ्राता वचन निभाता है
अकाल मृत्यु ना होगी उसकी
भाई दूज जो मनाता है

हर संकट से रक्षा करने
भाई तत्पर रहता तैयार
विश्वास प्रैम को दर्शाता
भाई दूज का ये त्यौहार

बहना की आंखों का मोती
हर्ष खुशी झलकाता है
भाई के आगमन से हृदय में
प्रेम का सागर उमड़ आता है

सनातन संस्कृति हमारी
भाई बहन का पावन प्यार
दिल से दिल का रिश्ता है ये
भाई दूज का यह त्यौहार

रमाकांत सोनी नवलगढ़
जिला झुंझुनू राजस्थान
रचना स्वरचित व मौलिक है

Share

Leave a Comment