धूम से मनाये-नसीमबानु रसुल भाई खोखर

धूम से मनाएं

नववर्ष धूम से मनाएं।
सभी अनंत हर्ष पाएं।।

नववर्ष नव हो चाह।
सत्य ही हमारी राह।।

प्रेम संग नया जोश।
उत्कृष्ट हो अब सोच।।

नववर्ष कि पहल हो ऐसे।
बीती बात भूल गये जैसे।।

नया हो पल रंगीन सवेरा।
भाव ना रहे तेरा मेरा।।

नववर्ष हम संग मनाएं।
सुख ही सुख सदैव पाएं।।

नववर्ष का सबको उल्लास।
चारों और हो नव प्रकाश।।

*नसीमबानु रसुल भाई खोखर*
*भरूच गुजरात।*

Share