नव वर्ष उत्सव 2022-श्रीमति सरोज महेन्द्र पाण्डेय

*नव वर्ष उत्सव* 2022
——————————–
*नव वर्ष में समय से साक्षात्कार*
——————————-
नये वर्ष की नयी सुबह में,खड़ा समय को सम्मुख पाया ,
है व्यंग भरी मुस्कान लिये ,
देख समय मुझको मुस्काया.. l

मुझे लगा…मुझसे वो कहता,
क्यों खुश हो…क्या है बदला आज ?
मैं तो हूँ,जैसा मैं कल था,
वैसा ही हूँ… अभी आज… l

बोला समय..इस नयी सुबह में,
क्या भ्रष्टाचार कुछ हुआ है कम ?
या..अन्याय,अनीति,अत्याचार,
छल ,कपट दुनिया से गया है गुम ?

समय पूछ रहा ज्यों मुझसे,
क्या नारी कीअस्मत,हो गयी सुरक्षित ?
क्या..राजनीति में,सेवा भावना,
अब भी..हो रही कही परिलक्षित…?

क्या गरीबी, बेगारी हुई कुछ कम…?
या कम हो गयी,कहीं मंहगाई है ?
बोलो खुश मानव,ये नयी सुबह,
ऐंसी क्या.. खुशियाँ लाई है… ?

क्यों.. क्यों खुश हो इस नये साल में,
अनगिनत प्रश्न समय ज्यों पूछ रहा ,
*मन-मस्तिष्क,इस नव प्रभात में* ,
*समय के.. प्रश्नों के उत्तर ढूंढ़ रहा* ..l

श्रीमति सरोज महेन्द्र पाण्डेय
बबलिया(निवास) मण्डला – म.प्र.
****************************

Share