सबकी नजर में

Screenshot 20220203 121309 WhatsApp

कविता सबकी नजर में सबकी नजर में, मैं हूँ आजकल, सबको नजर में, रखा करूँगा। सबकी नजर…। नहीं गिराऊँगा, नजर …

Read more

प्यार करके लोग

Screenshot 20211104 171132 WhatsApp

प्यार करके लोग नजर के तीर बदल लेते है तकदीर से अपनी जिंदगी की ये तस्वीर बदल लेते है प्यार …

Read more

अभिलाषा

Screenshot 20211130 192358 WhatsApp

आदमी भाग रहा बेतहाशा नित नूतन अभिलाषा, आदमी भाग रहा बेतहाशा। आसमां छूने की चाहत, बढ़ रही जीवन प्रत्याशा।। आदमी …

Read more

आजकल

Screenshot 20220318 193143 WhatsApp

आजकल देख अब बदल रहा है युग आजकल। विष बन रहा है माँ का दूध आजकल।। मान भी रिश्तों का …

Read more

नारी तुम अबला नहीं

Screenshot 20220417 132046 WhatsApp

नारी तुम अबला नहीं, तुम एक सबला नारी हो। तुम में पूरे वीरता के गुण समाये, इसलिए तुम झांसी की …

Read more