नया वर्ष – इंदिरा अग्रवाल

नया वर्ष
*”””*
नये वर्ष में आओ हम मिल,
भूले गये वर्ष के दुख सब
कुछ नया अद्भुत करें हम।

भय छोड़े दुनिया के सारे,
शिकवे ओर शिकायतें तज दे,
उर्जा एक नयी सृजन कर,
कुछ अनोखा अद्भुत करे हम।
सारी अशांतियो को निवारे,
नव आशाएं जगाकर मनमें,
भ्रांतिएं सारी मिटाकर जग से,
विश्वास,प्रेम की सरिता बहा दे‌
नये वर्ष में आओ हम मिल,
कुछ नया अनोखा करें हम।
*********
इंदिरा अग्रवाल

Share

Leave a Comment