नव वर्ष अहिंसावादी हो-ईश्वर चंद्र जायसवाल

“नव वर्ष अहिंसावादी हो”

हे! परमपिता अब कृपा करो, नव वर्ष अहिंसावादी हो l
प्रत्येक हृदय में प्यार पले, यह प्यार एकतावादी हो ll टेक ll

जब सभी स्वस्थ सानन्द रहें, तब ताक़तवर यह देश बने l
सैनिक सीमा पर डटे रहें, कुछ ऐसा ही परिवेश बने ll
दुश्मन हिम्मत ना कर पाये,
तब भारत आशावादी हो l
हे! परमपिता अब कृपा करो, नव वर्ष अहिंसावादी हो ll 1 ll

जिसको जो भी काम मिला है,
उसमें ही वह नित लगा रहे l
अपनी उन्नति के साथ-साथ,
सब की उन्नति में सगा रहे ll
भारत उन्नति कर जायेगा,
जब हर नर उन्नतिवादी हो l
हे! परमपिता अब कृपा करो,
नव वर्ष अहिंसावादी हो ll 2 ll

हम बनें अन्नदाता भगवन,
भूखों को भोजन नित देवें l
दुखियों के दुख को दूर करें,
प्यासे को पानी नित देवें ll
कोई ना भूखा नंगा हो,
ऐसी अपनी आबादी हो l
हे! परमपिता अब कृपा करो,
नव वर्ष अहिंसावादी हो ll 3 ll

नर -नारी सब बलवान बनें,
प्रिय भारत का अभिमान बनें l
जब कभी जरूरत पड़ जाये –
तब सब मजदूर किसान बनें ll
धरती से सोना उपजायें,
ना फसलों की बरबादी हो l
हे! परमपिता अब कृपा करो,
नव वर्ष अहिंसावादी हो ll 4 ll

नित आलस-अरि को दूर भगा,
सब योगा – प्राणायाम करें l
बन वीरव्रती भारत रक्षक,
जग में भारत का नाम करें ll
यह विश्व गुरू बन जायेगा,
जब ‘ईश्वर’ तन फ़ौलादी हो l
हे! परमपिता अब कृपा करो,
नव वर्ष अहिंसावादी हो ll 5 ll

ईश्वर चंद्र जायसवाल, गोंडा (उत्तर प्रदेश)

Share