नववर्ष वंदन अभिनंदन-जितेन्द्र देवतवाल ‘ज्वलंत’

।। नववर्ष वंदन अभिनंदन ।।

नवल वर्ष नव सृजन प्रेरणा को लेकर है आया।
वंदन अभिनंदन है इसका सुख – समृद्धि लाया।।

चहुँओर हर्षमय जीवन उत्साह स्नेह सकल हो।
स्वर्णिम संसार रहे, जन-जीवन सौम्य सरल हो।।

दीवारे विद्वेष की दरके, कलुष मिटे जगती के।
व्याथाएँ सारी मिट जाये सुमन खिले भक्ति के।।

स्वस्थ रहे जन स्वच्छ धरा हो ये संदेश है लाया।
वंदन अभिनंदन है इसका सुख – समृद्धि लाया।।

सुखमय सौगाते पा जाये दुख को बांटे और कहे।
स्नेह-सूर्य जगत व्यापी हो, अब न कोई कष्ट सहे।।

संकल्प सबल हो सबके पग पग मिले सफलता।
सफर सुनहरा समय सुहाना जीवन रहे सरलता।।

पग पग प्यासे पय को पाए, जीवन रहे समर्पण।
तिमिर तिरोहित नवप्रभात में सर्वभाव हो अर्पण।।

नव-सौन्दर्य सकल सृष्टि में खुशहाली को लाया।
वंदन अभिनंदन है इसका सुख – समृद्धि लाया।।
•••

रचयिता –
—————————–
नाम : – जितेन्द्र देवतवाल ‘ज्वलंत’
निवास : – 174/2, , आदर्श कालोनी हनुमान मंदिर के पास, शाजापुर- 465 001 [मध्य प्रदेश]
——————————————————
सम्पर्क मोबाइल : 91794 82452

Share

Leave a Comment