आओ सुनें गाथा वीरों की

आओ सुनें गाथा वीरों की,
करें उनका गुणगान,
उनसे है यह देश गौरवान्वित,
उनसे बना यह देश महान।
आओ सुनें गाथा…।

वीरों से भरी यह धरती,
यश-कीर्ति गा रहा आसमान,
है यहाँ की माँ दुर्गा,काली,
जिसे जान रहा सारा जहान।
आओ सुनें गाथा…।

सबसे शूरवीर हमारे श्रीराम थे,
जिनका जग में बड़ा है नाम,
वे थे मर्यादा पुरुषोत्तम,
जिन्होनें किया जग कल्याण।
आओ सुनें गाथा…।

द्वापर युग में थे एक राजा,
जो थे पराक्रमी भरत महान,
जिनके नाम यह देश है भारत,
जिसकी जग में अलग पहचान।
आओ सुनें गाथा…।

पौरूष की शूरवीरता का,
मैं क्या करूँ महिमा बखान,
पौरूष के आगे चूर हुआ,
सिकंदर का अभिमान।
आओ सुनें गाथा…।

अशोक,चन्द्रगुप्त,महाराणा ने,
बढायी भारत की गरिमा व मान,
गुरू गोविंद,वीर शिवाजी पर,
हम सबको है अभिमान।
आओ सुनें गाथा…।

मंगल पांडे,झाँसी की रानी ने,
ली हजारों गोरों की जान,
सुभाष,भगत,आजाद,कुँवर ने,
दिलायी अंग्रेजों से मुक्ति,त्राण।
आओ सुनें गाथा…।

हमें नाज राजा नारायण सिंह पर,
जो हैं मेरे हिन्द की शान,
मार भगाया फिरंगियों को,
लिये हजारों अंग्रेजों के प्राण।
आओ सुनें गाथा…।

करें याद उस जगत्पति को,
जिनका करता देश सम्मान,
जिन्होनें देश का तिरंगा लहराया,
किया अपना जीवन कुर्बान।
आओ सुनें गाथा…।

हमें अभिमान हिन्द के वीरों पर,
जो हैं मेरे वतन की आन-बान,
आओ मिलकर इनकी गाथा गायें,
करें इनकी यश-कीर्ति गान।
आओ सुनें गाथा…।
——0——
अरविन्द अकेला,पूर्वी रामकृष्ण नगर,पटना-27

Share

Leave a Comment