कोंच काव्य कुम्भ में साढ़े आठ सौ कवियों का हुआ काव्यपाठ

300 शहरों के 1100 से अधिक कवियों से कुम्भ को सुशोभित करने का है संकल्प

कोंच(जालौन):कोंच इंटरनेशनल फ़िल्म फेस्टिवल की उपशाखा कोंच फ़िल्म फेस्टिवल साहित्य समिति द्वारा विगत 25 सितंबर से अनवरत चल रहे कोंच काव्य कुंभ अपने लक्ष्य के समीप है।
संस्थापक/संयोजक पारसमणि अग्रवाल ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए बताया कि 300 शहरों के 1100 से अधिक कवियों का वर्चुअल रूप से कोंच काव्य कुम्भ में कविता पाठ के संकल्प के साथ इस आयोजन की नींव रखी गई। कोंच को साहित्यिक पटल पर नई पहचान दिलाने, नवोदित, कनिष्ठ एवं वरिष्ठ साहित्य साधकों को एक मंच पर लाया जा सके,जैसे विभिन्न उद्देश्यों के साथ कोंच काव्य कुम्भ विगत 25 सितंबर से अनवरत जारी है जिसमें अभी तक 300 से अधिक शहर कस्बों के 850 कवियों द्वारा अपना कविता पाठ किया जा चुका है।
पारस ने बताया कि कवि सम्मेलन प्रभारी भास्कर सिंह माणिक, सह प्रभारी चंद्रप्रकाश गुप्त चंद्र, आयोजन समिति की सदस्य वीना अडवानी, सरला विजय सिंह, गीता पाण्डेय, सुधीर श्रीवास्तव आदि के अथक प्रयास और परिश्रम से इस बड़े संकल्प को साकार रूप मिला है। कोंच काव्य कुम्भ के समापन होने के पश्चात इसी टीम के सरंक्षण एवं दिशा निर्देशन में कोंच फ़िल्म फेस्टिवल साहित्य समिति मासिक ई पत्रिका एवं अन्य गतिविधियों को भी अयोजित करेगी। जिससे साहित्य जगत का सबसे बड़े वर्चुअल कार्यक्रम से जुड़े 1100 से अधिक साहित्यकारों को अन्य अवसर भी प्रदान किये जा सके।

Share

Leave a Comment