नव प्रेरणा-बसंत श्रीवास

“नव प्रेरणा”
*********************
नूतन वर्ष की नव प्रेरणा से,नया अलख जगायेंगे ।
होगी नव शुभकामनाएं, खुशियां के पर्व मनाएंगे।।

हुई थी मायूस सी मौसम, उदास था पूरा गगन ।
त्योहारों पे ग्रहण लगा, छीना खुशियों का चमन।।

बच्चे बुढ़े, अफ़सर लेवर, चिंतित था सारा वतन।
नव वर्ष की नव प्रेरणा से, पर्व मनाएं होके मगन।।

नया साल होगा सबसे प्यारा, नित नव सिख जगाएंगे।
मुश्किलों का करके सामना, साहस अलख जगायेंगे।।

फिर से नव वर्ष की खुशियों पर,
ले उत्साह ओमीक्रान द्वार खड़ी।।
गुमनामी का देश में आस देकर,
फिर अदृश्य छवि में आ पड़ी ।।

फिर भी हार न मान उम्मीद का, दीपक जलाना है।
नव वर्ष से नव प्रेरणा संग , नव वर्ष पर्व मनाना है।।

खो दिया था मन से धैर्य का ,अनुपम खजाना ।
बांध के साहस अब ,मुश्किलों से नही घबराना।।

सब से हो मिलना जुलना ,भाव सहयोग बनाना है।
नव वर्ष से नव प्रेरणा संग, खुशियों का पर्व मनाना है।।

नूतन वायरस है अति विचित्र,
मास्क सेनेटाइजर न छोड़ना मित्र।
दूरी अनुरूप बनाये रखना ,
कोरोना का टीका लगाए रखना।।

बड़ी मुश्किल है, इस महामारी की करना पहचान।
कभी कोरोना के डेल्टा नाम, वैज्ञानिक भी हुए हैरान।।

नूतन वर्ष में नव प्रेरणा संग, बनाएंगे एक नई पहचान।
नवचेतना की सूझबूझ से, होगा स्वस्थ भारत महान ।।
। मेरा स्वस्थ भारत महान मेरा स्वस्थ भारत महान।।
*************************
बसंत श्रीवास
रामकृष्ण मिशन आश्रम
नारायणपुर (छत्तीसगढ़)
संपर्क सूत्र संख्या 9406353385

Share

Leave a Comment