नव साहित्य ई पत्रिका का विमोचन

“नव साहित्य” मासिक ई पत्रिका के प्रथम अंक का विमोचन आ.सत्येंद्र कुमार शर्मा “तरंग” जी के कर कमलों से संपन्न साहित्यिक पटल 'नव साहित्य परिवार भारत' की मासिक ई पत्रिका "नव साहित्य" के प्रथम अंक का आनलाइन विमोचन जाने माने कवि, लेखक, शिक्षक एवं सामाजिक चिन्तक आ. सत्येन्द्र कुमार शर्मा "तरंग" जी के कर कमलों से हिंदी दिवस के शुभ अवसर पर गरिमामय माहौल में दिनांक 14.09.2021 को प्रभात बेला में सम्पन्न हुआ। विमोचन करते हुए आ.शर्मा जी ने खुद को 'नव साहित्य परिवार भारत' से जोड़ते हुए कहा कि इतने अल्प समय में मंच पटल ने जो स्थान और पहचान बनाया है, वह काबिल-ए-तारीफ तो है ही साथ ही साथ संस्थापक एवं अध्यक्ष आ.अमित कुमार बिजनौरी जी की दृढ़ इच्छा शक्ति और अदम्य साहस को भी प्रदर्शित करता है। मंच के संरक्षक आ. सुधीर श्रीवास्तव जी की मंच के प्रति समर्पण एवं निष्ठा की सराहना करते हुए आ. शर्मा जी ने कहा कि श्री सुधीर श्रीवास्तव जी मंच की स्थापना से लेकर अद्यावधि कन्धे से कन्धा मिलाकर अनवरत निश्छल भाव से मंच का सहयोग कर रहे हैं। मंच के सभी पदाधिकारियों एवं वरिष्ठ तथा कनिष्ठ रचनाकारों का सहयोग नव साहित्य परिवार की स्वीकार्यता का प्रमाण है। उन्होंने विश्वास जताया कि नव साहित्य मंच और "नव साहित्य" ई पत्रिका समय के साथ एक मिसाल कायम करने में समर्थ होगी। ई प्रकाशन अभिव्यक्ति के संस्थापक एवं संपादक, वरिष्ठ कवि आ. अनिल शर्मा "अनिल" जी और समततावादी कलमकार साहित्य शोध संस्थान के संस्थापक आ. बुद्धि सागर गौतम जी ने शुभकामनाएँ एवं बधाइयाँ दी है। पत्रिका के प्रधान संपादक आ. हंसराज सिंह "हंस" जी ने पत्रिका को "सुन्दर गुलदस्ता" कहा। श्री "हंस" जी ने हर्षित हो कर कहा कि, "विविध छन्द विधाओं एवं भावों से सुसज्जित रचनाओं का यह सुन्दर गुलदस्ता आपको समर्पित करते हुए हमें अपार हर्ष हो रहा है।" विमोचन के अवसर पर संरक्षक आ.सुधीर श्रीवास्तव जी, महासचिव डॉ. मोहित कुमार जी, प्रधान सम्पादक आ. हंसराज सिंह "हंस" जी, सम्पादक आ. अमित कुमार बिजनौरी जी, सलाहकार , आ.नरेश द्विवेदी "शलम" जी, निदेशिका आ. ममता मनीष सिन्हा जी, आ. महेंद्र सिंह "राज" जी, आ. अरविंद कुमार जी, आ. ओम प्रकाश श्रीवास्तव जी, आ.रत्ना वर्मा जी एवं आ.वंदना चौहान जी सहित अनेकों कवि, साहित्यकार एवं गणमान्य लोग उपस्थित रहे। जिनकी गरिमामयी उपस्थिति ने पटल परिवार के हौसले को मजबूती प्रदान किया। कार्यक्रम के अंत में प्रधान सम्पादक आदरणीय हंसराज सिंह "हंस" जी ने आ. शर्मा जी सहित उपस्थिति सभी गणमान्य अतिथियों एवं साहित्य मनीषियों का नव साहित्य परिवार की ओर से आभार प्रकट करते हुए हार्दिक बधाइयाँ, शुभकामनाएँ एवं धन्यवाद ज्ञापित किया।

Share

Leave a Comment