नव वर्ष आया है-जयंती पटेल

नव वर्ष आया है

चहके चिड़िया डाली -डाली,
तितली झूमें हो के मतवाली।
कोयल कूके काली -काली,
लगती प्यारी सूरज की लाली।
ढेरों खुशियां लाया है,
देखो नव वर्ष आया है।।

ना कोई खौफ ना कोई डर,
खुल के फैलाओ अपने पर।
अब नहीं रहेगा कोरोना का कहर,
फिर से झूमेगा गांव और शहर।
लोगों पर नशा छाया है,
देखो नव वर्ष आया है।।

नया साल 2022 ऐसे आए,
अपने साथ ढेरों खुशियां लाए।
बिछड़े हुए लोगों को मिलाएं,
गमों को कर दें बाय बाय।।
घर आंगन महकाया है,
देखो नव वर्ष आया है।

जाति धर्मों का कोई बैर नहीं,
सब अपने हैं कोई गैर नहीं।
बुरी नजर डालें जो भारत पर,
समझो उसकी खैर नहीं।।
अपनेपन का एहसास दिलाया है,
देखो नव वर्ष आया है।

जयंती पटेल
प्राथमिक शाला बरलिया

Share