नया वर्ष आने को है अब-रामसाय श्रीवास

🌹 **गीत ** 🌹

नया वर्ष आने को है अब,
छाई है खुशहाली ।
रोज मनेगा खूब दशहरा,
और होगी दीवाली ।।
🌺
समय बदलता देर न लगता,
बीता समय पुराना ।
परिवर्तन हर पल होता है,
आया नया जमाना ।।
अब जीवन में नई उमंगे ,
सबके आने वाली $$$
**नया वर्ष आने को है अब,छाई है खुशहाली **
🌺
बीत रहा सन् इक्कीसवाँ अब,
बाईस आने को है ।
जीवन के सारे संकट अब,
सबके जाने को है ।।
झूमे नाचे गाएँ मिलकर,
दे हाथों में ताली $$$
**नया वर्ष आने को है अब, छाई है खुशहाली **
🌺
कोरोना का संकट अब तो,
जग से टल जाएगा ।
लोगो के जीवन की गाड़ी,
फिर से चल पाएगा ।।
काम मिलेगा युवको को अब,
रहे न कोई खाली $$$
**नय वर्ष आने को है अब, छाई है खुशहाली **
🌺
शिक्षा स्वास्थ्य सभी हो सुंदर,
सबको अब मिल पाए ।
नई सोच हो नई उमंगे,
आगे कदम बढ़ाएं ।।
सीचें हम भारत की बगिया,
को बनकर के माली $$$
**नय वर्ष आने को है अब, छाई है खुशहाली **
🌺
नया साल मंगलमय हो,
हम यही कामना करते हैं ।
बीते को बिसराएँ नूतन,
सोच हृदय में भरते हैं ।।
**राम**सूरज ने नई तरंगे,
अब धरती पर डाली $$$
**नया वर्ष आने को है अब, छाई है खुशहाली **

🌹 **रामसाय श्रीवास “राम”** 🌹

Share

4 thoughts on “नया वर्ष आने को है अब-रामसाय श्रीवास”

Leave a Comment