नया वर्ष 2022-प्रेमशंकर प्रेमी

नया वर्ष– 2022

नये वर्ष में नयी उमंगें
लेकर अब हम आएंगे ।
नए साल की किरणों में
गीत खुशी का गाएंगे ।।

कितना क्या खोया हमने
समय नहीं है गिनती का ।
नया वर्ष खुशहाल बनावें
ध्यान रखें इस विनती का ।।

खोया है हमने कितना
दें ध्यान न ऐसी बातों पर ।
आई सुनामी चली गई
हो गौर न काली रातों पर ।।

बीत गया इक्कीस, खड़ा है
बाईस अब स्वागत पाने को ।
ईक्कीस अब तैयार है अपना
लाव लश्कर ले जाने को ।।

आनेवाले नए साल का
स्वागत खुले हाथ करें ।
शुभ मंगलदायक होगा वो
खुलकर उससे बात करें ।।

नफरत की दीवार गीरा दें
बूरा था जो उसे भूला दें ।
प्रेम से सबको गले लगा लें
दूरी सबके बीच मिटा दें ।।

आएगा अब बाईस हमारा
जूदा होगा ईक्कीस बेचारा ।
एक का स्वागत दूजे विदाई
मिलकर हमसब करेंगे भाई ।।

देता मुबारकबाद सभी को
प्रेमशंकर नव वर्षों का ।
नये वर्ष में रहेगा हमको
ध्यान सभी के दर्शों का ।।

💐नववर्ष की मंगलकामनाओं के साथ 💐

कवि–प्रेमशंकर प्रेमी ( रियासत पवई )

Share

Leave a Comment