नव वर्ष-प्रियांशी मिश्रा

नव वर्ष
World of writers
बुराईयों और बीमारियों को बीते वर्ष में छोड़ चलेंगे,
खुशियों और उल्लास के संग नव वर्ष में हम प्रवेश करेंगे।
नयी उमंग और नयी तरंग संग मन में एक संकल्प करेंगे,
बेटियों और बहनों को अब प्रताड़ित नहीं करेंगे।

आने वाले नव वर्ष में लोग स्वस्थ और शिक्षित हो,
नव वर्ष के नवल प्रभात में सबका मस्तिष्क विकसित हो।
नव वर्ष की मंगल बेला पर सत्कर्मों की ‌भरमार हो,
नव वर्ष में कोई भी व्यक्ति ना पैसों से लाचार हो,

सब धन – धान्य से समृद्ध हो,
चाहे जवान या वृद्ध हो।
ना बेरोजगारी और ना कोई महामारी होगी,
बस एक विकसित राष्ट्र की छोटी सी तैयारी होगी।
ना कोई दिक्कत ना कोई परेशानी होगी,
कामना करती हूं कि आने वाला
नव वर्ष सबके लिए खुशियों की निशानी होगी।

✍️✍️
प्रियांशी मिश्रा
जुग्गौर चिनहट लखनऊ उत्तर प्रदेश।
शीर्षक: नव वर्ष

13 thoughts on “नव वर्ष-प्रियांशी मिश्रा”

  1. नवयुग की नवधारा की नववर्ष के लिए
    नवोदित रचनाकार कवयित्री प्रियाँशी जी
    को हार्दिक शुभकामनाएं और बधाई

Leave a Comment