नव वर्ष का संकल्प-शोभा प्रसाद

नव वर्ष का संकल्प

कालचक्र के ,विषम काल से,निकलकर,
शनैःशनैः चलते जा रहे , तिमिर पथ पर।
कुछ हारे कुछ जीते,पर वर्ष बीता भयंकर,
ईश्वर,अल्ला,हे दाता,तेरा करम शुभंकर।

नव वर्ष आ रहा ,हमसब माँगते हाथ पसार,
सहज जीवन गति से,कर सबकी नैया पार।
गरल सुधा जीवन सत्य ,सबको पीना होता,
मुश्किल सब आसान लगे,ऐसा जीना होता।

इंद्रधनुष के सात रंग पुनः,आसमान में आए,
प्रभु पाए तख़्त तले ,सुखद अहसास कराए।
बीमार मैं ,बीमार आप,बीमार सारा जमाना,
प्रभु ,तू अब वापस ले,कोरोना का नजराना।

बूढ़े बच्चे घर में कैद,संघर्षमय जीवन उनका,
आत्मा कराह रहा,कब पूरा हो सपना सबका।
नये वर्ष की क्यारी में,बच्चे खिल खिल जाएँ,
दूबघास पर बैठ ,दादा-दादी ठहाक्के लगाएँ।

सत्य -धर्म,उत्तम-विचार,नव वर्ष का संकल्प ,
सन्मार्ग,एकता ,विश्वबंधुत्व ,दूजा न विकल्प।
हिंसा -आतंक का भय ,संपूर्ण विश्व है त्रस्त,
मादक द्रव्यों का सेवन,मानवता करता ध्वस्त।

नव वर्ष का संकल्प , यादगार , यदि बनाना है,
अपने स्वास्थ्य और स्वच्छता पर ध्यान देना है।
विश्व बंधुत्व की भावना जन जन में फैलाना है,
नशा मुक्त समाज और नारी सशक्त बनाना है।

कोरोना जैसे वायरस को ,जड़ से उखाड़ना है,
कोरोना से बचने का,हरसंभव उपाय करना है।
वातावरण की शुद्धता , इंसानों पर निर्भर है,
कैसे स्वस्थ-स्वच्छ रहें,सब उनके ही ऊपर है।

नव वर्ष का संकल्प , ख़ुशियाँ अपार मिल जाए,
पथ आलोकित कर दे प्रभुजी,वर्ष सर्वोत्तम जाए।

💫 शोभा प्रसाद ,एम-1202 ,जे.एम.ड़ी.गार्डेन,
सेक्टर 33 , सोहना रोड , सुभाष चौक के पास,
गुरुग्राम , ( हरियाणा ), पिन कोड- 122018
———————————————————

Share

3 thoughts on “नव वर्ष का संकल्प-शोभा प्रसाद”

  1. बहुत बढ़िया रचना के लिए आपको बहुत बहुत बधाई हो

Leave a Comment