नव वर्ष कविता-शोभा रानी तिवारी

नववर्ष कविता
**************
बीते वर्ष की हम करें विदाई ,
नववर्ष तुम्हें तो आना होगा ,
कोरोना को दूर भगा कर ,
गीत खुशी के गाना होगा ।

संकल्पों के पंख लगाकर,
हम सब नई चेतना लाएंगे,
कर्म भक्ति का हो अनुगुंजन,
हम सब गीत खुशी के गाएंगे ,
स्वर्ण रश्मियों के संग हमको ,
नया इतिहास बनाना होगा,
नववर्ष तुम्हें तो आना होगा ।

हर चुनौतियों को लक्ष्य बनाएं,
हमारे कदमों पर विश्वास होगा,
धैर्य से मंजिल मिलेगी सबको,
अपनी धरती औरआकाश होगा,
प्रकाश हो सबके जीवन में ,
हमें ऐसा दीप जलाना होगा ,
नववर्ष तुम्हें तो आना होगा।

ऊंच-नीच का भेद मिटाकर ,
हम तो सबको गले लगाएंगे ,
वसुधैव कुटुंबकम अपनाकर,
विश्व को एक परिवार बनाएंगे,
नए -नए पृष्ठ जुड़ेंगे जीवन में,
रिश्तों को मजबूत बनाना होगा ,
नववर्ष तुम्हें तो आना होगा ,
गीत खुशी के गाना होगा।

स्वरचित एवं अप्रकाशित

श्रीमती शोभा रानी तिवारी,
619 अक्षत अपार्टमेंट खातीवाला टैंक इंदौर मध्य प्रदेश मोबाइल 89894 09210

Leave a Comment