गजल सुषमा सिंह

Screenshot 20211130 192358 WhatsApp

गजल ———– मंदिर में रोज माथ नवाने लगा हूॅं मै। कि तेरे लिए मन्नतें माॅंगने लगा हूॅं मै।। तू खुश …

Read more