नव वर्ष का आगमन-अमरनाथ सोनी

नव वर्ष आगमन
World of writers

नये नवल वर्ष आगमन में, स्वागत को तैयार हैं!
सुख – समृद्धी नया ले आये, यही मेरा त्योहार है!!

खेतों में फसलें खिलतीं हैं, देश के खुशी किसान हैं!
फल -फूलों से लदी फसल है, यही तो कृषकों शान है!!

मेरा भारत कृषि विकास में, अग्रणी हमारा देश है!
खाता और खिलाता सबको, निर्यातक अन्य देश है! !

नूतन वर्ष नवल में आये, गण का तंत्र हमारा है!
उसी तिथी गणतंत्र व्यवस्था, सारा देश सवाँरा है!!

घटती हरियाली बढ़ती समस्याएं का विमोचन

पुरखे जो कुर्वानी देकर, स्वतंत्रता खुशहाल दिये!
उस दिन उनके पूजा करतें, उनसे आशिरवाद लिये!!

आगे पंद्रह दिवस भी आये, स्वतंत्र दिवस मनातें है!
भाईचारा प्रेम बढा़ते, खुशियाँ बहुत जतातें हैं!!

फिर आये होली आगे भी, भाई चार निभातें हैं!
बैर, कपट को त्याग करें भी, अपने गलें लगाते़ं हैं!!

दीवाली दिन- दीप पर्व में, खुशियाँ सभी मनातें हैं!
घर -घर पूजा लक्ष्मी माता, धन का दिवस मनातें हैं!!

अमरनाथ सोनी “अमर ”
स्वरचित एबं मौलिक रचना,
9302340662

Share

Leave a Comment